Report Times
latestOtherकेरलटॉप न्यूज़ताजा खबरेंमहाराष्ट्रमेडीकल - हैल्थस्पेशलहैल्थ

इन दो राज्यों में कोविड के 21 हजार से ज्यादा केस, हर दिन डबल हो रहा इंफेक्शन

REPORT TIMES 

Advertisement

 देश में कोरोना का दायरा लगाातर बढ़ रहा है. करीब एक साल बाद एक दिन में दस हजार से ज्यादा केस दर्ज किए गए हैं. एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 44 हजार के पार चला गया है. दो राज्यों में वायरस से खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है. देश में केरल और महाराष्ट्र में मिलाकर 21 हजार से अधिक एक्टिव केस हैं. केरल में एक्टिव मरीजों की संख्या 16,308 और महाराष्ट्र में 5421 सक्रिय मामले हैं. दोनों राज्य में हर तीन से चार दिन में एक्टिव केस डबल हो रहे हैं. केरल में हर दिन कोरोना के केस बढ़ते जा रहे हैं. पिछले 24 घंटों में एक्टिव केस में 1874 का इजाफा हुआ है. केरल में कोविड की संक्रमण दर में भी इजाफा जारी है. इसी तरह महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों में 546 एक्टिव केस बढ़े हैं. केरल और महाराष्ट्र दोनोें में कोविड से अस्पताल में भर्ती मरीज भी बढ़ रहे हैं. हालांकि कोविड के मरीजों को गंभीर परेशानियां नहीं हो रही है, लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि दोनों ही राज्यों में अगले कुछ दिनों तक केस बढ़ते रहेंगे. ऐसे में सावधानी बरतने की जरूरत है.

Advertisement

Advertisement

एक्सबीबी.1.16 स्ट्रेन के केस कम नहीं हो रहे

Advertisement

दोनों राज्यों में ओमिक्रॉन के एक्सबीबी.1.16 वेरिएंट के केस आ रहे हैं. महाराष्ट्र में इसके 100 से अधिक केस रिपोर्ट हुए हैं, जबकि केरल में भी 100 के करीब मामले आए हैं. विशेषज्ञों का कहना है कि नया वेरिएंट लोगों में तेज गति से फैल रहा है. कोविड एक्सपर्ट डॉ जुगल किशोर के मुताबिक, नए वेरिएंट से वह लोग संक्रमित हो रहे हैं. जिनमें कोविड के खिलाफ बनी हुई इम्यूनिटी खत्म हो चुकी है. वायरस के खिलाफ रोग प्रतिरोधक क्षमता न होने से ये लोगों में फैल रहा है. हालांकि बढ़ते मामलों से पैनिक होने की जरूरत नहीं है. केस अगले कुछ सप्ताह में कम होने लगेंगे, लेकिन फिलहाल वायरस से बचाव जरूरी हो गया है.

Advertisement

फ्लू के लक्षण दिखने पर करा लें टेस्ट

Advertisement

डॉ किशोर का कहना है कि हार्ट, डायबिटीज, एचआईवी और कैंसर के मरीजों को सतर्क रहना है. अगर इनमें फ्लू के लक्षण जैसै कि खांसी-जुकाम बुखार या सिरदर्द की शिकायत है तो लापरवाही न करें. ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत कोविड की जांच करा लें. बॉडी में दिखने वाले इन लक्षणों को हल्के में लेने की गलती न करें. समय पर वायरस की पहचान से स्थिति को गंभीर होने से बचाया जा सकता है. इन लोगों को सलाह है कि अपनी बीमारियों की दवाओं को समय पर लें और बाहर जाते समय मास्क लगाएं.

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान से यात्रा लेकर निकले राहुल गांधी, गहलोत-पायलट में खत्म हुई रार !

Report Times

आबकारी पुलिस ने इक्तावरपुरा गांव में हथकढ़ शराब बनाने की भट्टी को नष्ट किया

Report Times

अंतर्राष्ट्रीय वैश्य महिला समाज का स्नेह मिलन का दीपावली स्नेह मिलन

Report Times

Leave a Comment