Report Times
latestटॉप न्यूज़ताजा खबरेंदिल्लीदेशराजनीतिसोशल-वायरल

कांग्रेस पार्टी के लिए मुश्किलें क्यों पैदा कर रहे हैं राहुल गांधी के शब्द

दिल्ली (रिपोर्ट टाइम्स)

Advertisement

कांग्रेस का राजकुमार राहुल गांधी के शब्द उनके और उनकी पार्टी के लिए मुश्किलें क्यों पैदा कर रहे हैं। ताजा गलती मुंबई में भारत जोड़ो न्याय यात्रा के भव्य समापन समारोह में हुई। गांधी शायद यह कहना चाहते थे कि भाजपा चुनाव जीतने और नेताओं को अपने साथ शामिल होने के लिए डराने के लिए प्रवर्तन निदेशालय, केंद्रीय जांच ब्यूरो और ईवीएम का इस्तेमाल कर रही है। लेकिन अंत में उन्होंने जो कहा – “हिंदू धर्म में, शक्ति है, और हम उस शक्ति से लड़ रहे हैं” – ने भाजपा को विपक्ष के खिलाफ बड़ा हथियार दे दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राहुल गांधी के बयान को बड़ा मुद्दा बना लिया है।

Advertisement

राहुल ने क्या कहा

राहुल गांधी ने रविवार को ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के समापन के अवसर पर मुंबई के शिवाजी पार्क में आयोजित एक रैली में कहा था, ‘‘हिन्दू धर्म में शक्ति शब्द होता है। हम शक्ति से लड़ रहे हैं…एक शक्ति से लड़ रहे हैं। अब सवाल उठता है कि वह शक्ति क्या है? जैसे किसी ने यहां कहा कि राजा की आत्मा ईवीएम में है। सही है…सही है कि राजा की आत्मा ईवीएम में है… हिंदुस्तान की हर संस्था में है। ईडी में है, सीबीआई में है, आयकर विभाग में है।’’ विवाद बढ़ने पर राहुल गांधी ने सफाई देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनकी बातों का अर्थ बदलने की कोशिश की है, जबकि उन्होंने जिस शक्ति का उल्लेख किया था उसका ‘मुखौटा’ प्रधानमंत्री खुद हैं। उन्होने यह दावा भी किया कि जिस शक्ति के खिलाफ वह लड़ने की बात कर रहे हैं उसने सभी संस्थाओं और संवैधानिक ढांचे को अपने चंगुल में दबोच लिया है।

Advertisement

मोदी ने बनाया सियासी मुद्दा

राहुल के बयान को लेकर मोदी अपनी हर सभा में विपक्ष पर वार कर रहे हैं। मोदी ने विपक्षी ‘इंडिया’ गठबंधन पर मुंबई की रैली में ‘शक्ति’ के विनाश का बिगुल फूंकने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके लिए हर मां-बेटी ‘शक्ति’ का स्वरूप है और वह उनके लिए अपनी जान की बाजी लगा देंगे। उन्होंने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में लड़ाई ‘शक्ति के विनाशकों’ और ‘शक्ति के उपासकों’ के बीच है तथा चार जून को स्पष्ट हो जाएगा कि कौन ‘शक्ति’ का विनाश करने वाले हैं और किसे ‘शक्ति’ का आशीर्वाद प्राप्त है। उन्होंने कहा कि आज भी मैं शक्ति की उपासना करता हूं, देश के कोटि-कोटि लोग हिंदू धर्म की इस शक्ति के उपासक हैं। मेरे लिए देश की नारी शक्ति, इसी शक्ति का प्रतिबिंब है।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि ‘इंडी अलायंस’ के लोग इस ‘शक्ति’ को ‘कुचलना और तबाह’ करना चाहते हैं।

Advertisement

सियासी नफा-नुकसान

राहुल गांधी के बयान को भाजपा ने एंटी हिंदू बताना शुरू कर दिया है। जाहिर सी बात है कि हिंदू धर्म में देवी को शक्ति का रूप माना जाता है। ऐसे में भाजपा साफ तौर पर कह रही है कि विपक्ष सनातन धर्म का बार-बार अपमान करता है। लोकसभा चुनाव में भाजपा को विपक्ष और खासकर के राहुल गांधी के खिलाफ बड़ा हथियार मिल गया है। भाजपा राहुल गांधी के बयान के सहारे हिंदुत्व के पिच पर बैटिंग करेगी। यह कहीं ना कहीं विपक्षी दलों के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाली हो सकती है। विपक्ष को भी पता है कि हिंदुत्व की राजनीति में बीजेपी को महारत हासिल है और इस तरीके का बयान उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है। यही कारण है कि विपक्ष फिलहाल राहुल गांधी के इस बयान को लेकर चुप्पी साधे हुए है। वह इस बयान को बहुत ज्यादा तूल देने के पक्ष में नहीं है।

Advertisement
Advertisement

Related posts

राजस्थान में तेज बारिश से नदियों का जलस्तर बढ़ा: 3 दिन में 7 जिलों में भारी बरसात का अलर्ट

Report Times

चिड़ावा। गौर ए गणगौर माता खोल किवाड़ी : होलिका की राख से गणगौर पूजन शुरू

Report Times

बिना हेलमेट वाहन चालकों के काटे चालान : विशेष अभियान के तहत समझाइश भी की

Report Times

Leave a Comment